विश्व कप विशेष: पहला विश्व कप पहला मैच ओर गावस्कर के 36 रन का आज तक वो रिकॉर्ड नही टूटा है - khabar buzz

khabar (खबर) news must be read for information According to the media survey, in today's era, 75% of the Indian population reaches the Internet for news so here you can read articles about politics, sports, life style, Bollywood gossips, and about in Indian history....

गुरुवार, जून 27, 2019

विश्व कप विशेष: पहला विश्व कप पहला मैच ओर गावस्कर के 36 रन का आज तक वो रिकॉर्ड नही टूटा है

                         


क्रिकेट विश्व कप इतिहास का पहला मैच ओर उसमे ही भारत के महान खिलाड़ी सुनील गाव्स्कर ने कुछ ऐसा किया की क्रिकेट जगत के इतिहास मे एक नया रिकॉर्ड बन गया जो आज तक कायम है ओर आधुनिक दौर के फास्ट क्रिकेट को देखे तो लगता है की बदकिस्मती से अब वो रिकॉर्ड गावस्कर के नाम ही रहेगा





क्रिकेट शुरुवाती दौर से टेस्ट मैच गेम रहा है जिसे जेंटलमेन गेम कहा गया 5 दिन का मैच इंगलिश सम्मर हल्की हल्की धूप ओर दर्शको की तालियो से गूँजता स्टेडियम सिवाए तालियो की गड़गड़ाहट के कोई शोर शराबा न होता था कोई अग्रेसन नही जैसा फुटबॉल के मेचो मे अक्सर होता था शायद इसीलिए क्रिकेट को जेंटलमेन खेल ही कहा जाता था ओर उस दौर मे भारतीय क्रिकेट का उभरता सितारा था सुनिल मनोहर गावस्कर भूरी आंखो घुंघराले बालो वाला 5फिट 4 इंच के साधारण कद वाले इस युवा ने जब 1970 मे इंडीज दौरे से क्रिकेट की शुरुवात की सभी क्रिकेट प्रेमियो को अपना कायल बना चुका था

 फिर आया साल 1975 जब आईसीसी ने पहली बार टेस्ट sport के लेबल से बाहर निकलने की कोशिश की ओर क्रिकेट जगत का पहला विश्व कप इंगलेंड मे आयोजित करवाया टेस्ट क्रिकेट खेलने के आदि सभी खिलाड़ियो के लिए ये पहला अनुभव था जिस तरह 2007 मे पहला टी20 विश्व कप भी नया प्रयोग था जो सफल हुआ
इंगलेंड मे खेले गए पहले विश्व कप मे पहला मैच ही भारत इंगलेंड के बीच आयोजित हुआ ओर भारतीय टीम जिसे वन डे क्रिकेट का रत्ती भर भी अनुभव नही था जिसके कारण पहला ही मैच भारत बुरे तरीके से बड़े अंतर से 202 रन से हारी लेकिन भारतीय टीम ने एक बड़ी उपलब्धि हासिल की क्योकि प्रथम विश्व कप मे 60 ओवर के मैच हुआ करते थे जहा इंगलेंड ने पहली पारी मे 60 ओवर के खेल मे कुल 334 रन बनाए जबकि भारतीय टीम सिर्फ 132 रन बना पाई लेकिन बड़ी बात ये थी की भारतीय टीम ने पूरे 60 ओवर खेले ओर मात्र 3 विकेट ही गँवाए ओपनर बल्लेबाज सुनील गावस्कर क्रिकेट इतिहास के ऐसे पहले खिलाड़ी बन गए जिन्होने मैच की पहली बॉल भी खेली ओर 60वे ओवर की अंतिम बॉल भी

पूरे 60 ओवर खेलने के बाद भी गावस्कर अविजित(नोट आउट ) रहे उससे भी मजेदार बात ये थी की उन 60 ओवरो मे 174 गेंद गावस्कर ने खेली जबकि रन बनाए मात्र 36 ओर उससे भी ज्यादा मजेदार बात की पूरे 60 ओवर बल्लेबाजी करते हुए भी गावस्कर ने मात्र 1 चोक्का ही लगा पाये ओर जब भारतीय बल्लेबाजी के 60 ओवर पूरे हुए तो कई न टूटने वाले रिकॉर्ड बन चुके थे शायद भारतीय टीम पहले मैच मे सारा पॉइंट वाला गणित समझ चुकी थी यही कारण रहा होगा की इंगलेंड जैसी दमदार गेंदबाजी ओर 335 के टार्गेट के बावजूद भारतीय टीम पूरे 60 ओवर खेली ओर विकेट गँवाए मात्र 3 जिसमे एक सलामी बल्लेबाज गावस्कर तो शुरू से लेकर अंत तक क्रीज़ पर खड़े रहे उस मैच ,मे भारतीय टीम हारी भले हो लेकिन द्रधता का परिचय जरूर दिया था मैच खतम होने के बाद जब गावस्कर ओर पटेल नोट आउट पेवेलियन लौट रहे थे पूरा स्टेडियम खड़े होकर तालियाँ बजा रहा था


2 टिप्‍पणियां:

क्रिकेट जगत का पहला फिक्स मैच ओर बॉलीवुड कनैक्शन 53 साल पुरानी सच्ची घटना

क्रिकेट जगत का पहला फिक्स मैच ओर बॉलीवुड कनैक्शन 53 साल पुरानी सच्ची घटना  जिस तरह आज कल क्रिकेट जगत मे फिक्सिंग का साया अक्सर मंडर...