लगातार रद्द होते मैच आखिर घाटा किसे?? क्या दर्शक भी है घाटे में - khabar buzz

khabar (खबर) news must be read for information According to the media survey, in today's era, 75% of the Indian population reaches the Internet for news so here you can read articles about politics, sports, life style, Bollywood gossips, and about in Indian history....

गुरुवार, जून 13, 2019

लगातार रद्द होते मैच आखिर घाटा किसे?? क्या दर्शक भी है घाटे में


क्यो ओलंपिक इंवेट किसी भी अन्य individual world championship से
बेहतर है इसका जीता जागता उदाहरण है क्रिकेट विश्व कप में रद्द होते मैच


आज फिर से icc क्रिकेट वर्ल्ड कप में एक मैच ओर रद्द हो गया आज भारत न्यूजीलैंड के बीच ट्रेंटब्रिज में खेला जाने वाला विश्वकप का 18वा मैच रद्द हो गया
 
कुल मिलाकर ये इस विश्वकप में तीसरा मैच रद्द हुआ है और वर्ल्ड कप इतिहास का पांचवा रद्द मैच है

लगातार रद्द हो रहे मैचों से घाटा किसको?????

Icc को कोई फर्क नही पड़ता अगर मैच एक भी बोल हुए बिना रद्द हो जाये क्योकि icc अपने एडवरटाइजिंग राइट का हिस्सा टूर्नामेंट शुरू होने से पहले ही ले लेता है अर्थात सबसे ज्यादा घाटे में वे कम्पनियां रहती है जो स्पॉन्सर होती है क्योकि मैच शुरू न होने की स्तिथि में दर्शक टीवी तक चालू नही करते और ऐसी स्तिथि में एड भी देखेगा कोंन??
 
दूसरे नम्बर का घाटा दर्शकों को होता है जो अपनी जेब से पैसे खर्च कर कई दिनों पहले टिकट खरीदते है और फिर स्टेडियम में जाकर भी दिन भर इंतज़ार करते है कि कब बारिश बन्द होगी और कब मैच शुरू होगा????
Icc 
ने अभी तक ऐसे कोई नियम नही बनाये है जिसके अंतर्गत बरसात से रद्द हुए मैचों का पैसा वापस दर्शकों को रिफंड के रूप में दिया जाए icc को इससे कोई फर्क नही पड़ता कि टिकट लेने के बाद दर्शक मैदान में आये या घर बैठे मैच देखे लेकिन जो मैदान में live मैच देखने की आस लेकर आता है और सिवाए गीले मैदान सुपर शॉवर ओर कवर ले कर भागते ग्रांउण्ड स्टाफ के अलावा कुछ नही देख पाता ऐसे में वो भी खुद को ठगा महसूस करता है इससे इतर ओलम्पिक खेलो की बात करे तो ओलम्पिक संघ अपने दर्शकों से कभी समझौता नही करता सबसे पहली बात तो बरसात की स्थिति में इंडोर स्टेडियम में खेल होते है उसके बावजूद भी किसी स्तिथि में मैच शुरू नही हो पाए तो रिजर्व day जरूर रखते है ताकि अगले दिन बचा मैच दुबारा शुरू हो सके

Icc 
अब बहुत बड़ी संस्था है हजारो करोड़ की क्षमता वाला बोर्ड है icc को ध्यान रखना चाइये की सबसे पहले तो ऐसी जगह ओर ऐसे मौसम में कोई इवेंट ही न हो जहाँ बारिश बार बार दखल दे

ऐसी स्थिति में भी मैच करवाना अनिवार्य ही है तो icc चाहे तो इंडोर स्टेडियम में मैच करवा सकता है अगर हर देश मे इंडोर स्टेडियम मौजूद नही हो तो ऐसी स्थिति में बड़े इंवेट के लिए रिजर्व day जरूर रखा जा सकता है

मुझे याद है 1999 का विश्व कप जब इतनी भौतिक सुविधाएं भी नही थी तब इंग्लैड में हर मैच के लिए एक रिजर्व दिन रखा गया था
ओर भारत इंग्लैड का मैच तो दो दिन में पूरा हुआ था
लेख पंसद आये तो शेयर जरूर करे

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

क्रिकेट जगत का पहला फिक्स मैच ओर बॉलीवुड कनैक्शन 53 साल पुरानी सच्ची घटना

क्रिकेट जगत का पहला फिक्स मैच ओर बॉलीवुड कनैक्शन 53 साल पुरानी सच्ची घटना  जिस तरह आज कल क्रिकेट जगत मे फिक्सिंग का साया अक्सर मंडर...