chandraswami the con of india - khabar buzz

khabar (खबर) news must be read for information According to the media survey, in today's era, 75% of the Indian population reaches the Internet for news so here you can read articles about politics, sports, life style, Bollywood gossips, and about in Indian history....

शुक्रवार, अगस्त 09, 2019

chandraswami the con of india


चंद्रास्वामी- जब एक तांत्रिक ने देश को मूर्ख बना डाला

chandraswami the con of india

21 सितंबर 1995 की दोपहर जब हमारी स्कूल के छुट्टी हुई ओर स्कूल बस द्वारा घर जा रहे थे तो बीच मे देखा की बिना कोई वार त्योहार आज मंदिरो मे लंबी लंबी कतारें लगी है ओर विशेषकर उन मंदिरो मे लगी है जहां श्री गणेश की मूर्ति स्थापित थी दरअसल देश मे एक खबर फैली थी की श्री गणेश जी स्वयं दूध पी रहे है ओर मंदिरो मे जो कतार लगी है वे सब गणेश जी को दूध पिलाने की चाह मे खड़े है घर गए टीवी चालू किया तो पाया की ये सिर्फ यहाँ की एक शहर मात्र की कहानी नही बल्कि पूरे देश की जनता गणेश जी को दूध पिलाने मे व्यस्त है ओर जहां कही गणेश जी की प्रतिमा नही मिल रही शिव जी को ही दूध पीला कर खुश है आज भी जब जब गणेश चतुर्थी करीब आती है सर्वप्रथम 1995 वाला किस्सा जरूर याद आता है

 दरअसल भारत के सबसे बड़े तांत्रिक और राजनैतिक रुतबा रखने वाले चंद्रास्वामी ने सुबह मीडिया से कहा था की “कल रात उन्हे सपने मे गणेश जी आए ओर कहा की वे दुध पीना चाहते है”
 ओर फिर क्या था??? उस दौर के विपक्ष के सबसे बड़े नेता ओर पूर्व प्रधानमंत्री दिवंगत श्री अटल जी भी दिल्ली मे एक मंदिर मे गणेश जी को दूध पिलाने पहुँच गए थे जैसे जैसे खबर फैली देश मे गणेश मंदिरो के आगे जबर्दस्त भीड़ जमा होनी शुरू हो गयी  हालांकि बाद मे खुलासा भी हुआ की सुप्रीम कोर्ट मे चंद्रास्वामी के एक केस मे फेसला आना था सो देश और मीडिया का ध्यान भटकाने के लिए ये एक चाल मात्र थी

आखिर कितने बड़े तांत्रिक थे चंद्रास्वामी:- यकीनन जिसकी बात देश के सबसे बड़े विपक्ष के नेता ने मान ली हो तो निच्छित ही वो वास्तव मे कोई बड़ा ही तांत्रिक ही होगा???
का भविष्य तक बता देते थे राजीव गांधी की ह्त्या से ठीक 2 महीने पहले उनकी वो भविष्यवाणी जिसमे उन्होने कहा था की अब राजीव गांधी कम ही दिनों के मेहमान है अब मेरे मित्र नरसिहराव ही प्रधानमंत्री बनेंगे
और दुर्भाग्य से राजीव गांधी की ह्त्या के बाद स्वामी पर राजीव गांधी की ह्त्या तक का आरोप लग गया था लेकिन उनकी पीवी नरसिम्हाराव के पीएम बनने की भविष्यवाणी भी सच साबित हुई ओर अपने परम मित्र नरसिम्हाराव के प्रधानमंत्री बनते ही चंद्रास्वामी भी समझ गए थे की उन्हे अब सुरक्षा कवच मिल गया है दरअसल सिर्फ नरसिम्हाराव ही नही पूर्व पीएम चंद्रशेखर से लेकर ब्रिटिश प्रधानमंत्री मार्गरेट थैचर, ब्रुनेई के सुल्तान, हॉलीवुड अभिनेत्री एलिजाबेथ टेलर, बहरीन के शेख इसा बिन सलमान अल खलीफा, सऊदी अरब के हथियारों के सौदागर अदनान खशोगी, टाइनी रॉलैंड, इराक के नेता सद्दाम हुसैन, मशहूर डिपार्टमेंटल स्टोर हैरोड्स के मालिक अल फैयद भाई और माफिया डॉन दाऊद इब्राहिम जैसे लोग  तक स्वामी के कायल थे पूर्व विदेश मंत्री नटवर सिंह ने अपनी किताब मे जिक्र किया है की लंदन यात्रा के दौरान चंद्रास्वामी उनके साथ थे ओर इंगलेंड सीनेट की एक बैठक मे स्वामी ने मारग्रेट का हाथ देखते हुए भविष्यवाणी की थी कि तुम जल्द ही इंगलेंड कि प्रधानमंत्री बनने जा रही हो ओर जब मारग्रेट प्रधानमंत्री बनते ही स्वामी को मिलने विशेष आमंत्रण भेजा था और उसके बाद भी स्वामी से लगातार संपर्क मे रही दरअसल 70 और 80 दशक मे छुटभैये नेता अपनी सांसदी कि टिकट से लेकर इंद्रा जी से मिलने तक कि भविष्यवाणी जानने स्वामी के पास आते थे ये वो दौर था जब स्वामी देश मे नामचीन होते जा रहे थे और उनका राजनीतिक कद जिस गति से बढ़ रहा था उनके भ्रष्ठाचार के कारनामे भी इसी गति से बढ़ रहे थे 90 का दौर आते आते स्वामी का राजनीतिक रुतबा इतना बढ़ गया था जितना कभी इंद्रा जी के खास गुरु आचार्य धीरेंद्र का हुआ करता था लेकिन धीरेंद्र किसी का भविष्य नही बताते थे न ही तांत्रिक थे इसलिए आम नेताओ कि भीड़ च्ंद्रास्वामी  के इर्दगिर्द ज्यादा देखी गयी किसी भी राजनीतिक पहुँच वाले स्वामी के मुक़ाबले लेकिन कहते है न जो पाप किए है उनका प्रायचित भी इसी जन्म मे करना पड़ता है उसके लिए कोई अलग से जन्म नही मिलता सो यही चंद्रास्वामी जो कभी बड़े बड़े गद्दी नविश नेताओ ओर सेलिब्रिटी से घिरे रहते थे उन्ही स्वामी ने अपना अंतिम समय ज़्यादातर सजा याफ़्ता होते हुए जैल मे निकाला ओर जब बाहर आए कोई उनका हाल चाल तक पूछने नही गया ओर अंतत मई 2017 मे उनके दिल्ली स्थित आश्रम मे ही उनकी मौत हो गयी दरअसल स्वामी पर राजीव गांधी कि ह्त्या से लेकर दुनिया के कुख्यात हथियार तस्कर  अदनान ख्गोशी से व्यापारिक रिश्ते तक के आरोप लगे इससे अलावा स्वामी पर राजीव गांधी के हत्यारे लिट्टे संघठन से संबंध के भी आरोप लगे  नरसिम्हा राव का कार्यकाल खत्म होने के साथ ही चंद्रास्वामी की शोहरत का सितारा भी अस्त होने लगा था. उनके ऊपर तमाम आरोप लगे. जांच शुरू हो गई थी. वो गलत वजहों से ही सुर्खियों में रहते थे.
2004 में सीबीआई ने दिल्ली हाई कोर्ट से चंद्रास्वामी और राजिंदर जैन के रिश्तों की पड़ताल की इजाजत मांगी थी राजिंदर जैन का राजीव गांधी की हत्या से ताल्लुक बताया जाता था. 2014 में एक कारोबारी ने चंद्रास्वामी के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई कि उनके आश्रम में उसके तीन करोड़ के जेवरात लूट लिए गए


साहूकार का बेटा बना तांत्रिक:-
 चंद्रास्वामी का जन्म 1948 में राजस्थान के अलवर में हुआ था. उनके पिता साहूकार थे, जिन्होंने बाद में हैदराबाद को अपने कारोबार का ठिकाना बना लिया था
9 भाई-बहनों में चंद्रास्वामी पांचवीं संतान थे उनका असल नाम नेमिचंद्र जैन था बहुत कम वक्त में चंद्रास्वामी ने खुद को एक भविष्यवक्ता, दिमाग पढ़ने की ताकत रखने वाले तांत्रिक यानी जगदाचार्य चंद्रास्वामी के तौर पर मशहूर कर लिया था जिस कारण वे अंतर्राष्ट्रीय पटल प्रसिद्ध हो गए

3 टिप्‍पणियां:

क्रिकेट जगत का पहला फिक्स मैच ओर बॉलीवुड कनैक्शन 53 साल पुरानी सच्ची घटना

क्रिकेट जगत का पहला फिक्स मैच ओर बॉलीवुड कनैक्शन 53 साल पुरानी सच्ची घटना  जिस तरह आज कल क्रिकेट जगत मे फिक्सिंग का साया अक्सर मंडर...